*अभिमान तब आता है* 
*जब हमे लगता है हमने कुछ काम किया है,*
                     *और*
*सम्मान तब मिलता है जब दुनिया को लगता है, कि आप ने कुछ महत्वपूर्ण काम किया है*
          *जो दूसरों को इज़्ज़त देता है*
    *असल में वो खुद इज़्ज़तदार होता है*
                     *क्योकि*
      *इंसान दूसरो को वही दे पाता है*
          *जो उसके पास होता है।*
  🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺 💚💚💚💚💚💚💚💚💚💚
   *🙏स्नेह वंदन🙏*
🌸 *सुप्रभात*