‏मुहब्बत में उनकी अना का पास रखते हैं ghalib shayri in hindi

मुहब्बत में उनकी अना का पास रखते हैं

‏मुहब्बत में उनकी अना का पास रखते हैं,
हम जानकर अक्सर उन्हें नाराज़ रखते हैं !!

Muhabbat me unki ana ka paas rakhte hain
hum jaankar aksar unhe naaraj rakhte hain .