*क्या माँगू कान्हा तुमसे,*
आप तो अंतरर्यामी हो,
किसको क्या देना हैं, 
आप सबके स्वामी हो,
तेरी ही रजा मे रहूँ, 
बस एक यही वर दो
सेवा, सुमिरन, सत्संग, 
*झोली मे मेरी भर दो...

🌺🌺🌺राधे राधे 🌺🌺🌺
🌷🍀जय श्री कृष्णा 🍀🌷
                  शुभ रात्रि 
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏